The Secret of the Mona Lisa Painting

mona lisa painting ka rahasya | मोना लिसा पेंटिंग का रहस्य

अगर दुनिया में कोई सबसे रहस्यमय पेंटिंग है तो वो है मोना लिसा की पेंटिंग। लिओनार्दो डा विन्ची द्वारा बनाई गई ये पेंटिंग दुनिया भर में सबसे रहस्यमय पेंटिंग है। दुनियाभर वैज्ञानिक भी मोना लिसा के पेंटिंग रहस्य जानकर आश्चर्य में है, क्यूकी इस पेंटिंग ने दुनिया भर के विज्ञानं के नियमो फेल कर दिया है। खैर , तो आज हम आप को बतायेगे की, मोना लिसा पेंटिंग का रहस्य (mona lisa painting rahasya) क्या है। और मोना लिसा पेंटिंग के रहस्य से जुडी कुछ बाते जो आप सायद ही जानते होंगे।

कौन है मोना लिसा?

mona lisa painting ka rahasya
mona lisa painting ka rahasya

मोना लिसा की पेंटिंग दुनियाभर में सबसे प्रसिद्ध पेंटिंग है। मोना लिसा पेटिंग को लेओनार्दो डा विन्ची द्वारा ही बनाया गया था जो आज भी फ्रांस के Louvre Museum में मौजूद है और इसकी कीमत 1000 मिलियन डालर है। डा विन्ची पेंटर होने के साथ साथ एक लेखक भी थे, लेकिन उन्होंने कभी भी इस पेटिंग के बारे में कुछ नही लिखा। न ही कभी बताया है कि यह पेंटिंग किस महिला की है। वही कुछ लोगो का कहना है, कि इस पेटिंग में उन्होंने खुद को एक औरत के रुप में बनाया था।

लेओनार्दो डा विन्ची ( Leonardo davinci )

Leonardo da Vinci
Leonardo da Vinci

लेओनार्दो डा विन्ची का जन्म 15 अप्रैल 1452 को इटली के विन्ची शहर में हुआ था और यही कारण था की उनके नाम के विन्ची पीछे लगाया जाता है। पुराने जमाने में लेओनार्दो डा विन्ची इटली के सबसे मशहूर की वैज्ञानिक, खोजकर्ता और कलाकार के रूप में जाने जाते थे। और आज भी वे अपनी प्रतिभा के लिए पुरे विश्व में जाने जाते हैं। आर्कियोलॉजिकल हेरिटेज (पुरातत्वा वेता) द्वारा उनको पूरी दुनिया का सबसे प्रतिभाशाली व्यक्ति का दर्जा दिया गया है।

मोना लिसा पेंटिंग का रहस्य

रहस्यमय मुस्कान– माना जाता है कि लेओनार्दो डा विन्ची ने जिस महिला की पेंटिंग बनाई थी, उस महिला के अंदर कई तरह के रहस्य छुपे हुए थे। इसलिए यह पेटिंग भी उतनी ही रहस्यमय है। शायद यहीं कारण है कि आज तक इस पेटिंग की मुस्कान भी एक रहस्य है। अगर इस पेंटिंग के मुस्कान के रहस्य की बात करे तो इस को अलग अलग एंगल से देखने पर इस पेंटिंग की स्माइल अलग अलग होती है। और पेंटिंग रिसर्च के दौरान एक डॉक्टर ने बताया कि मोना लिसा के ऊपरी दो दांत टूटे हुए थे, जिस कारण उनके ऊपरी होंठ अंदर को दबे हुए है।

14 साल में बनी थी पेटिंग– लिओनार्दो डा विन्ची ने इस पेटिंग को बनाने में 14 साल लगा दिए थे। उन्होंने इस पेंटिंग को 1503 में बनाना शुरु किया था, और 1517 में इस पेंटिंग को पूरा बना लिया था। माना जाता है की इस पेटिंग में इनके होंठ बनाने में ही 12 साल ही लग गए थे। इस पेटिंग को बनाने के लिए 30 से भी ज्यादा कलर लेयर्स का इस्तेमाल किया गया था। इसमें से कुछ कलर लेयर्स इंसानी बाल से भी बारीक है। यह पेंटिंग 30 * 21 इंच की है। इसका भार 8 किलोग्राम है।

चोरी के बाद प्रसिद्ध हुई पेटिंग – यह पेटिंग पहले इतनी प्रसिद्ध नही थी, लेकिन Louvre Museum पेरिस से चोरी होने के बाद यह काफी फेमस हो गई थी। 21 अगस्त 1911 को इतने बड़े म्यूजियम से पेटिंग का चोरी हो जाना बहुत ही बड़ी बात थी। इसकी चोरी के बाद एक हफ्ते तक म्यूजियम को बंद कर दिया गया था, कि पेंटिंग शायद म्यूजियम में ही अंदर कही होगी। काफी खोच के बाद पता लगा कि इस पेंटिंग को म्यूजियम के ही एक कर्मचारी विन्सेन्जो पेरुगिया ( vincenzo peruggia ) ने चोरी किया था।यह इंसान इटली का रहने वाला था। वे इस पेंटिंग को वापस इटली लेकर जाना चाहते थे। उनका मानना था कि यह इटली की धरोहर है। इटली में कुछ समय रखने के बाद इसे वापिस म्यूजियम में रख दिया गया था। वहीं विन्सेनजो को इस चोरी के लिए 6 महीने की सजा दी गई थी, लेकिन इटली के लोगों ने उनकी देश भक्ति के लिए उनका स्वागत किया था।

तो ये था मोना लिसा पेंटिंग का रहस्य आप को यह ब्लॉग कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताये।

अब आप हमे ब्लॉग लिख कर भी भेज सकते है। भेजने के लिए click hear

आप हमारा यूट्यूब चैनल भी सब्सक्राइब कर सकते है।

close button